Headlines
Loading...
Eid al-Adha 2020: बक़रीद क्यों मनाते हैं मुसलमान ?

Eid al-Adha 2020: बक़रीद क्यों मनाते हैं मुसलमान ?

Eid al-Adha 2020: बक़रीद क्यों मनाते हैं मुसलमान ?




बक़रीद (Bakrid, Eid), ईद-उल फितर (Eid Al-Fitr) यानी मीठी ईद के करीब 70 दिन बाद  देशभर में बकरीद का त्यौहार 1 अगस्त को मनाया

जाएगा। इसे ईद-उल-अजहा या Eid-ul Juha भी कहा जाता है। इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक, बकरीद 12वें महीने जिल हिज्जा की 10 तारीख को मनाई जाती है। बकरीद को हजरत इब्राहिम की कुर्बानी की याद में मनााया जाता है। मान्यता है की हजरत इब्राहिम अल्लाह के हुकम पर अपने बेटे इस्माइल की कुर्बानी देने को तैयार हो गए थे, लेकिन लेकिन अल्लाह ने उनकी इमानदारी देख बेटे की जगह एक दुंबा रख दिया था इस कारण मुसलमान बकरीद पर बकरे, दुंबे या भेड़ की कूर्बानी करते हैं।


ईद अल-फ़ितर व ईद अल-अधा में मुख्य अंतर

ईद अल-फ़ितर रमजान का पालन करने वाले तीन दिन हैं, एक पवित्र महीना जहां मुसलमानों को सुबह से शाम तक उपवास करना होता है। मुसलमान आमतौर पर इस ईद में एक दूसरे को आमंत्रित करते हैं और एक साथ भोजन करते हैं।
ईद अल-अधा में चार दिन होते हैं। यह याद करने के लिए मनाया जाता है कि कैसे पैगंबर इब्राहिम (अब्राहम) अपने बेटे पैगंबर इस्माइल (इस्माईल) का बलिदान करने जा रहे थे, भगवान के आदेश के कारण उन पर शांति हो। इस ईद में मुसलमान आमतौर पर एक भेड़/बकरा की बलि देते हैं। कुछ मांस गरीबों और जरूरतमंदों को दिया जाता है, बाकि व्यक्ति और उसके परिवार द्वारा खाया जाता है।

Bakrid 2020 Hindi Urdu Messages whatsApp wishes-

बकरीद पर लोग अपने दोस्त, रिश्तेदारों और करीबियों को मैसेज, शायरी और कोट्स भेजकर विश करते हैं। क्या आप भी अगर बकरीद के मौके पर दोस्त या करीबियों को बधाई संदेश भेजना चाहते हैं? अगर हां, तो आप नीचे दिए मैसेज और शायरी का उपयोग कर सकते हैं। यहां सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मौजूद बधाई संदेश, कविता, शायरी के साथ कुछ रोचक तस्वीरें दी गई है, जिन्हें बकरीद की मुबारकबाद देने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

तमन्नाएं आपकी सब पूरी हो जाएंहो आपका मुकद्दर इतना रौशन आमीन कहने से पहलेआपकी हर दुआ कबूल हो जाए Happy Eid al-Adha 2020!
ऐ चांद तू उनको मेरा पैगाम कह देनाखुशी का दिन और हंसी की शाम देनाजब देखे वो तुझे बाहर आकर उनको मेरी तरफ से बकरीद मुबारक कह देना
खुदा की हम पर हो मेहरबानी माफ कर दे हमारी नाफरमानीआज है खास दिन, हमेशा रखें यादखुदा से ही हमेशा करेंगे फरियाद हैप्पी बकरीद 2020!

0 Comments: